Monday, October 18, 2021
23.1 C
Delhi

Life-Symphony: The prism of a conscious soul

Must read

गुरुग्राम में शुरू होगा हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय का ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेंटर

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेवि), महेंद्रगढ़ का ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेंटर गुरुग्राम में शुरु होने जा रहा है। इस केंद्र के माध्यम से विश्वविद्यालय में...

भारत देश भारतीय स्वतंत्रता संग्राम क्रांतिकारियों के कारनामों से भरा हुआ है – बजरंग गर्ग

हिसार - हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी जिला हिसार द्वारा कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्षता श्रीमती सोनिया गांधी व प्रदेश अध्यक्ष बहन कुमारी शैलजा जी...

छोटे किसान कर रहे हैं सामूहिक खेती : चेयरमैन नबार्ड

गुरुग्राम : छोटे छोटे किसान फिलहाल सामूहिक रूप से खेती कर रहे हैं यह देश में एक बड़ा सकारात्मक बदलाव है यह कहना था...

हमारा काम लोगो की मदद करना है: राहुल गांधी

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी भारतीय युवा कांग्रेस के प्रांगण में कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे। कार्यक्रम...

It is indeed a notion that has been running since the vigorous usage of Information and Technology has overtaken the world that younger generation lack brains and values! This is merely an injected myth by some brains striving hard to suffice the generation gap they faced. When anything in asked the voices logically, they are shut coining them arrogant. It is a high time to question. This generation of youth is in the questioning mode of the illusionary beliefs that have been injected into the psyches in the name of religion or traditions. This book by Mohit Agarwal roots down to the starting point of a man’s thinking.

This book, Life-Symphony talks about various topics that are part of everyone’s life, but frequently being taken for granted or just believed blindly. In the chapter Wisdom, author Mohit talks about the power of knowledge, conscious data gaining, perseverance, hard work and self-discipline to achieve success. With amole examples from all fraternities, including movie actors the explanation he narrated ignites a thought of self-discovery.

Likewise, the chapter parenting and the contents in it are so appealing that it does down to the point that there is a difference between raising children and merely becoming parents. Also, the author pointed the importance of being transparent and communicative with the teenage and young adults in the family, giving them a lending shoulder of help and courage in times if extreme help, be it physical or mental stress.

The book, Life – Symphony gives a vivid picture of India, its practices since ages that were developed for the well-being of human lives and the forgotten elite values from our epics due to many invasions are incredibly explained in the book.

Title: Life-Symphony: The prism of a conscious soul

Author: Mohit Agarwal

Publisher: Evincepub Publishing

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

गुरुग्राम में शुरू होगा हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय का ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेंटर

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेवि), महेंद्रगढ़ का ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेंटर गुरुग्राम में शुरु होने जा रहा है। इस केंद्र के माध्यम से विश्वविद्यालय में...

भारत देश भारतीय स्वतंत्रता संग्राम क्रांतिकारियों के कारनामों से भरा हुआ है – बजरंग गर्ग

हिसार - हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी जिला हिसार द्वारा कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्षता श्रीमती सोनिया गांधी व प्रदेश अध्यक्ष बहन कुमारी शैलजा जी...

छोटे किसान कर रहे हैं सामूहिक खेती : चेयरमैन नबार्ड

गुरुग्राम : छोटे छोटे किसान फिलहाल सामूहिक रूप से खेती कर रहे हैं यह देश में एक बड़ा सकारात्मक बदलाव है यह कहना था...

हमारा काम लोगो की मदद करना है: राहुल गांधी

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी भारतीय युवा कांग्रेस के प्रांगण में कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे। कार्यक्रम...

साइबर सिटी का बारिश से हाल बेहाल ओल्ड डीएलएफ नदी नाले में तब्दील

राजेंद्र कुमार रावत/गुरुग्राम: ओल्ड डीएलएफ की सड़क जो केंद्रीय विद्यालय और आकाश इंस्टीट्यूट के मध्य गुजरती है, थोड़ी सी बारिश ने प्रशासन की मानो पोल...