Thursday, April 8, 2021
34 C
Delhi

सरकार और किसान संघ के बीच हुई छठें दौर की वार्ता

Must read

बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

नोमोश्कार !बांग्लादेश के राष्ट्रपतिअब्दुल हामिद जी,प्रधानमन्त्रीशेख हसीना जी, आप सभी का ये स्नेह मेरे जीवन के अनमोल पलों में से एक...

स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव – मोहित मदनलाल ग्रोवर

गुरुग्राम : "स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की वीरता व योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव...

सिक्किम को फिल्मों के लिए सबसे ज्यादा अनुकूल राज्य का पुरस्कार

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के निर्णायक मंडल (ज्युरी) ने सोमवार को वर्ष 2019 के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा की। पुरस्कारों की घोषणा से पहले...

देश में प्रतिदिन 34 किलोमीटर हो रहा है राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच) ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 (22 मार्च, 2021 तक) 12,205.25 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण करके एक और मील का पत्थर हासिल किया है।इस अवधि...

माननीय कृषि मंत्री नरेन्‍द्र सिंह तोमर, रेल मंत्री पीयूष गोयल और वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री सोम प्रकाश जी ने दिनांक 30 दिसम्बर, 2020 को विज्ञान भवन, नई दिल्‍ली में किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से छठे दौर की वार्ता की। माननीय कृषि मंत्री ने किसान संगठनों के प्रतिनिधियों का स्वागत किया और किसानों को सशक्‍त बनाने के लिए कृषि क्षेत्र में किए गए सरकार के प्रयासों से पुनः अवगत कराया।

कृषि मंत्री ने किसान संगठनों के प्रतिनिधियों को आंदोलन शांतिपूर्ण एवं अनुशासनात्‍मक तरीके से किये जाने पर धन्‍यवाद दिया। किसान प्रतिनिधियों से अनुरोध किया कि उनकी परेशानियों को ध्‍यान में रखते हुए सरकार किसानों के मुद्दे पर समाधान करने हेतु हर संभव प्रयास करने के लिए तत्‍पर है।

साथ ही सरकार प्रतिनिधियों के साथ खुले मन से चर्चा करके समाधान के लिए हर संभव प्रयासरत है। दोनों तरफ से कदम आगे बढ़ने की जरूरत है। सरकार सभी सकारात्‍मक विकल्‍पों को ध्‍यान में रखते हुए कानूनी राय के साथ विचार करने के लिए तैयार है।

माननीय कृषि मंत्री ने किसान संगठनों के प्रतिनिधियों को आश्‍वासन दिया कि एमएसपी पर कृषि उपज की खरीद तथा मंडी प्रणाली पूर्व की तरह जारी रहेगी। किसान संगठनों के एमएसपी पर कानून बनाने के प्रस्‍ताव पर माननीय कृषि मंत्री ने कहा कि‍ कृषि उपज की एमएसपी तथा उनके बाजार भाव के अंतर के समाधान हेतु समिति का गठन किया जा सकता है।

किसान  संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा तीनों कानून वापस लेने से संबंधित सुझाव के संबंध में कृषि मंत्री ने कहा, इस पर कमेटी का गठन करके किसान के हितों को ध्‍यान में रखते हुए विकल्‍पों के आधार पर विचार किया सकता है। जिससे संविधानात्‍मक मर्यादा का पालन करने के लिए सरकार अपनी भूमिका का निर्वहन कर सके।

वायु गुणवत्‍ता प्रबंधन अध्‍यादेश, 2020 तथा विद्युत संशोधन विधेयक, 2020 पर सरकार ने‍ किसान संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ विस्‍तृत चर्चा की तथा सरकार ने किसान संगठनों के सुझाव पर सैद्धांतिक रूप से इन दोनों विषयों पर अपनी सहमति जताई।

किसान संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी कृषि सुधार कानूनों से संबंधित मुद्दे सरकार के समक्ष विचारार्थ रखे। जिस पर सरकार ने उन्‍हें योग्‍य निर्णय लेने हेतु आश्‍वस्‍त किया। यह भी आश्‍वासन दिया गया कि भारत सरकार भी साफ नियत तथा खुले मन से प्रासंगिक मुद्दों के तर्कपूर्ण समाधान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

वार्ता सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्‍पन्‍न हुई और दोनों पक्षों ने आगे भी चर्चा जारी रखने पर सहमति व्‍यक्‍त की।

कृषि मंत्री जी द्वारा किसान संगठनों को अनुरोध किया गया कि कृषि सुधार कानूनों के संबंध में अपनी मांग के अन्‍य विकल्‍प दे, जिस पर सरकार विचार कर सकेगी।

अगली बैठक दिनांक 04.01.2021 को 2.00 बजे अपराह्न निर्धारित की गयी। मंत्री द्वारा किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से आग्रह किया गया कि बच्‍चों, महिलाओं और बुजुर्गों को आंदोलन स्‍थल से घर वापस जाने हेतु प्रेरित करें। बैठक सधन्‍यवाद समाप्‍त हुई।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

नोमोश्कार !बांग्लादेश के राष्ट्रपतिअब्दुल हामिद जी,प्रधानमन्त्रीशेख हसीना जी, आप सभी का ये स्नेह मेरे जीवन के अनमोल पलों में से एक...

स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव – मोहित मदनलाल ग्रोवर

गुरुग्राम : "स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की वीरता व योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव...

सिक्किम को फिल्मों के लिए सबसे ज्यादा अनुकूल राज्य का पुरस्कार

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के निर्णायक मंडल (ज्युरी) ने सोमवार को वर्ष 2019 के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा की। पुरस्कारों की घोषणा से पहले...

देश में प्रतिदिन 34 किलोमीटर हो रहा है राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच) ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 (22 मार्च, 2021 तक) 12,205.25 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण करके एक और मील का पत्थर हासिल किया है।इस अवधि...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विश्व जल दिवस पर कैच द रेन का शुभारंभ करेंगे

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 22 मार्च 2021 को विश्व जल दिवस के मौके पर जलशक्ति अभियान: कैच द रेन का शुभारंभ करेंगेI प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग/वर्चुअल...