Thursday, April 8, 2021
31.8 C
Delhi

प्राइवेट स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावकों ने निकाला पैदल मार्च

Must read

बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

नोमोश्कार !बांग्लादेश के राष्ट्रपतिअब्दुल हामिद जी,प्रधानमन्त्रीशेख हसीना जी, आप सभी का ये स्नेह मेरे जीवन के अनमोल पलों में से एक...

स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव – मोहित मदनलाल ग्रोवर

गुरुग्राम : "स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की वीरता व योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव...

सिक्किम को फिल्मों के लिए सबसे ज्यादा अनुकूल राज्य का पुरस्कार

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के निर्णायक मंडल (ज्युरी) ने सोमवार को वर्ष 2019 के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा की। पुरस्कारों की घोषणा से पहले...

देश में प्रतिदिन 34 किलोमीटर हो रहा है राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच) ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 (22 मार्च, 2021 तक) 12,205.25 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण करके एक और मील का पत्थर हासिल किया है।इस अवधि...

गुरुगाम। प्राइवेट स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावकों ने रविवार को कमला नेहरू पार्क से गुरुग्राम के विधायक सुधीर सिंगला के कार्यालय तक पैदल मार्च निकाला एवं विधायक के कार्यालय में उनaकी अनुपस्थिति में उनके सहायक को एक ज्ञापन सौंपा। पैदल मार्च का नेतृत्व यूनिवर्स सेवियर्स फाउंडेशन गुरुग्राम के अध्यक्ष आकाश चावला, चौधरी दीप चंद्र, राजेद्र सिंह सरोहा, नरेद्र शर्मा, अमित कुमार, राजेश कुमार, रोहित कथूरिया, मंजू मित्तल, रिंकी, कविता रस्तोगी, पुष्पा देवी, सोनू गोयल आदि कर रहे थे।

उक्त जानकारी देते हुए यूनिवर्स सेवियर्स फाउंडेशन गुरुग्राम के अध्यक्ष आकाश चावला ने कहा कि इस मार्च में श्री एस एन सिद्धेश्वर स्कूल, अल्पाइन स्कूल सेक्टर-10, कर्नल पब्लिक स्कूल पटौदी रोड, झंकार सीनियर सेकेंडरी स्कूल सेक्टर-78 के अभिभावकों ने भाग लिया। उन्होंने बताया कि अभिभावक वार्षिक व अतिरिक्त फीस माफ करने की मांग कर रहे हैं। आकाश चावला ने कहा कि प्राइवेट स्कूल वाले अभिभावकों की बात तक सुनना नहीं चाहते। लॉक डाउन के बाद से जहां पूरे देश की आर्थिक स्थिति खराब है व लोगों की रोजी रोटी छीन गई है वैसे में गुरुग्राम के प्राइवेट स्कूल प्रबंधन फीस में कोई रियायत देने को तैयार नहीं है। इसको लेकर अभिभावकों में जबर्दस्त आक्रोश है। अगर इस मामले में हरियाणा सरकार और प्रशासन ने हस्तक्षेप नहीं किया तो कई विद्यार्थियों की पढ़ाई बाधित हो सकती है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

नोमोश्कार !बांग्लादेश के राष्ट्रपतिअब्दुल हामिद जी,प्रधानमन्त्रीशेख हसीना जी, आप सभी का ये स्नेह मेरे जीवन के अनमोल पलों में से एक...

स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव – मोहित मदनलाल ग्रोवर

गुरुग्राम : "स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की वीरता व योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव...

सिक्किम को फिल्मों के लिए सबसे ज्यादा अनुकूल राज्य का पुरस्कार

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के निर्णायक मंडल (ज्युरी) ने सोमवार को वर्ष 2019 के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा की। पुरस्कारों की घोषणा से पहले...

देश में प्रतिदिन 34 किलोमीटर हो रहा है राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच) ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 (22 मार्च, 2021 तक) 12,205.25 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण करके एक और मील का पत्थर हासिल किया है।इस अवधि...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विश्व जल दिवस पर कैच द रेन का शुभारंभ करेंगे

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 22 मार्च 2021 को विश्व जल दिवस के मौके पर जलशक्ति अभियान: कैच द रेन का शुभारंभ करेंगेI प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग/वर्चुअल...