Thursday, April 8, 2021
31.8 C
Delhi

सरकार अपने तीनों आध्यदेश वापिस ले व धारा 144 लगा कर किसानों की आवाज़ को न दबाए – बजरंग गर्ग

Must read

बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

नोमोश्कार !बांग्लादेश के राष्ट्रपतिअब्दुल हामिद जी,प्रधानमन्त्रीशेख हसीना जी, आप सभी का ये स्नेह मेरे जीवन के अनमोल पलों में से एक...

स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव – मोहित मदनलाल ग्रोवर

गुरुग्राम : "स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की वीरता व योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव...

सिक्किम को फिल्मों के लिए सबसे ज्यादा अनुकूल राज्य का पुरस्कार

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के निर्णायक मंडल (ज्युरी) ने सोमवार को वर्ष 2019 के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा की। पुरस्कारों की घोषणा से पहले...

देश में प्रतिदिन 34 किलोमीटर हो रहा है राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच) ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 (22 मार्च, 2021 तक) 12,205.25 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण करके एक और मील का पत्थर हासिल किया है।इस अवधि...

चंडीगढ़ – अखिल भारतीय व्यापार मंडल के राष्ट्रीय महासचिव व हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने व्यापारी व किसान नेताओं से बातचीत करने के उपरांत कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा किसान बचाओ मंडी बचाओ पीपली, कुरुक्षेत्र में 10 सितंबर को केंद्र सरकार के तीन अध्यादेश  के विरोध में सम्मेलन पर प्रतिबंध लगाने के उद्देश्य से पीपली में धारा 144 लगाने की कड़े शब्दों में निंदा की। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा की सरकार किसान व व्यापारियों की आवाज डंडे के जोर से दबाना चाहती है जो सरासर गलत है। श्री गर्ग ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार कोरोना महामारी में किसान, व्यापारी, मजदूर व आम जनता को सुविधा देने की बजाए कोरोना की आड में नए-नए फरमान जारी करके किसान व आढ़तियों को नाजायज तंग करने पर तुली है। जो किसी भी तरह देश के हित में नहीं है। जबकि सरकार को कोरोना महामारी व आर्थिक नुकसान को देखते हुए देश व प्रदेश की जनता को ज्यादा से ज्यादा सुविधा व रियायतें देनी चाहिए। मगर सरकार किसान, आढ़ती व आम जनता की समस्याओं को हल करने बजाए हिटलर की तरह तानाशाही करके जनता को नाजायज तंग करने में लगी हुई है। जिसे किसी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि जब सरकार के प्रतिनिधि जगह -जगह सम्मेलन कर रहे हैं तो किसानों द्वारा पीपली में सम्मेलन को रोकने के लिए धारा 144 लगाना कहां का इंसाफ है। जबकि सरकार को किसान व आढ़तियों की समस्या को समझते हुए केंद्र सरकार द्वारा जो तीन नए अध्यादेश लाए हैं उसे किसान व आढ़तियां के हित में तुरंत वापस लेना चाहिए और केंद्र व प्रदेश सरकार को किसान व व्यापारियों से मिलजुल कर इस समस्या का तुरंत समाधान करना चाहिए अगर यह तीन अध्यादेश देश व प्रदेश में लागू हो जाते हैं तो देश का किसान व मंडी पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगी। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि सरकार को ऐसा कोई फैसला नहीं लेना चाहिए। जिससे किसान, आढ़ती व आम जनता को नुकसान हो। सरकार को कोई भी फैसला लेने से पहले कृषि संबंधित किसान, व्यापार संबंधित व्यापारी व कर्मचारी, मजदूर संबंधित निर्णय के लिए उनके संगठन के प्रतिनिधियों से विचार-विमर्श करके निर्णय लेना चाहिए। ताकि सरकार का किसान, व्यापारी, मजदूर, कर्मचारी व आम जनता के साथ किसी प्रकार की नाराजगी ना रहे।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

नोमोश्कार !बांग्लादेश के राष्ट्रपतिअब्दुल हामिद जी,प्रधानमन्त्रीशेख हसीना जी, आप सभी का ये स्नेह मेरे जीवन के अनमोल पलों में से एक...

स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव – मोहित मदनलाल ग्रोवर

गुरुग्राम : "स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की वीरता व योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव...

सिक्किम को फिल्मों के लिए सबसे ज्यादा अनुकूल राज्य का पुरस्कार

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के निर्णायक मंडल (ज्युरी) ने सोमवार को वर्ष 2019 के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा की। पुरस्कारों की घोषणा से पहले...

देश में प्रतिदिन 34 किलोमीटर हो रहा है राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच) ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 (22 मार्च, 2021 तक) 12,205.25 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण करके एक और मील का पत्थर हासिल किया है।इस अवधि...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विश्व जल दिवस पर कैच द रेन का शुभारंभ करेंगे

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 22 मार्च 2021 को विश्व जल दिवस के मौके पर जलशक्ति अभियान: कैच द रेन का शुभारंभ करेंगेI प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग/वर्चुअल...