Saturday, June 19, 2021
28.1 C
Delhi

सरकार अपने तीनों आध्यदेश वापिस ले व धारा 144 लगा कर किसानों की आवाज़ को न दबाए – बजरंग गर्ग

Must read

परिवार परामर्श केंद्र व रोटरी क्लब द्वारा रक्तदान शिविर का किया गया आयोजन

आज परिवार परामर्श केंद्र गुरुग्राम के द्वारा हरियाणा समाज कल्याण बोर्ड के सहयोग से रोटरी क्लब में ब्लड डोनेशन कैंप का...

चेतना स्कूल में समाज कल्याण बोर्ड ने लगाया वैक्सिनेशन कैंप

आज 4 जून को फैमिली काउंसलिंग सेंटर गुरुग्राम जो कि हरियाणा समाज कल्याण बोर्ड के सौजन्य से चलाया जाता है के सहयोग...

कोरोना से बचने का एक ही उपाय सावधानी ही बचाव है – कृष्णा जोशी

कोरोना की महा मारी के इस दूसरी लहर और विभिन्न प्रकार के फंगस लोगों मृत्यु का कारण बन रहे हैं। एक ओर कुछ लोग...

कोरोना को लेकर समाज कल्याण बोर्ड ने की वर्चुअल मीटिंग

आज हरियाणा समाज कल्याण बोर्ड की वर्चुअल मीटिंग जूम एप द्वारा हरियाणा के सभी जिलों के काउंसलर  के साथ हुई। जिसमें हरियाणा के सभी...

चंडीगढ़ – अखिल भारतीय व्यापार मंडल के राष्ट्रीय महासचिव व हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने व्यापारी व किसान नेताओं से बातचीत करने के उपरांत कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा किसान बचाओ मंडी बचाओ पीपली, कुरुक्षेत्र में 10 सितंबर को केंद्र सरकार के तीन अध्यादेश  के विरोध में सम्मेलन पर प्रतिबंध लगाने के उद्देश्य से पीपली में धारा 144 लगाने की कड़े शब्दों में निंदा की। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा की सरकार किसान व व्यापारियों की आवाज डंडे के जोर से दबाना चाहती है जो सरासर गलत है। श्री गर्ग ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार कोरोना महामारी में किसान, व्यापारी, मजदूर व आम जनता को सुविधा देने की बजाए कोरोना की आड में नए-नए फरमान जारी करके किसान व आढ़तियों को नाजायज तंग करने पर तुली है। जो किसी भी तरह देश के हित में नहीं है। जबकि सरकार को कोरोना महामारी व आर्थिक नुकसान को देखते हुए देश व प्रदेश की जनता को ज्यादा से ज्यादा सुविधा व रियायतें देनी चाहिए। मगर सरकार किसान, आढ़ती व आम जनता की समस्याओं को हल करने बजाए हिटलर की तरह तानाशाही करके जनता को नाजायज तंग करने में लगी हुई है। जिसे किसी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि जब सरकार के प्रतिनिधि जगह -जगह सम्मेलन कर रहे हैं तो किसानों द्वारा पीपली में सम्मेलन को रोकने के लिए धारा 144 लगाना कहां का इंसाफ है। जबकि सरकार को किसान व आढ़तियों की समस्या को समझते हुए केंद्र सरकार द्वारा जो तीन नए अध्यादेश लाए हैं उसे किसान व आढ़तियां के हित में तुरंत वापस लेना चाहिए और केंद्र व प्रदेश सरकार को किसान व व्यापारियों से मिलजुल कर इस समस्या का तुरंत समाधान करना चाहिए अगर यह तीन अध्यादेश देश व प्रदेश में लागू हो जाते हैं तो देश का किसान व मंडी पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगी। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि सरकार को ऐसा कोई फैसला नहीं लेना चाहिए। जिससे किसान, आढ़ती व आम जनता को नुकसान हो। सरकार को कोई भी फैसला लेने से पहले कृषि संबंधित किसान, व्यापार संबंधित व्यापारी व कर्मचारी, मजदूर संबंधित निर्णय के लिए उनके संगठन के प्रतिनिधियों से विचार-विमर्श करके निर्णय लेना चाहिए। ताकि सरकार का किसान, व्यापारी, मजदूर, कर्मचारी व आम जनता के साथ किसी प्रकार की नाराजगी ना रहे।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

परिवार परामर्श केंद्र व रोटरी क्लब द्वारा रक्तदान शिविर का किया गया आयोजन

आज परिवार परामर्श केंद्र गुरुग्राम के द्वारा हरियाणा समाज कल्याण बोर्ड के सहयोग से रोटरी क्लब में ब्लड डोनेशन कैंप का...

चेतना स्कूल में समाज कल्याण बोर्ड ने लगाया वैक्सिनेशन कैंप

आज 4 जून को फैमिली काउंसलिंग सेंटर गुरुग्राम जो कि हरियाणा समाज कल्याण बोर्ड के सौजन्य से चलाया जाता है के सहयोग...

कोरोना से बचने का एक ही उपाय सावधानी ही बचाव है – कृष्णा जोशी

कोरोना की महा मारी के इस दूसरी लहर और विभिन्न प्रकार के फंगस लोगों मृत्यु का कारण बन रहे हैं। एक ओर कुछ लोग...

कोरोना को लेकर समाज कल्याण बोर्ड ने की वर्चुअल मीटिंग

आज हरियाणा समाज कल्याण बोर्ड की वर्चुअल मीटिंग जूम एप द्वारा हरियाणा के सभी जिलों के काउंसलर  के साथ हुई। जिसमें हरियाणा के सभी...

जीवन यापन के लिए 70 साल की बुजुर्ग महिला कोविड काल में फल बेचने को मजबूर

आज के समय में जहां कोरॉना की दूसरी लहर अपने रौद्र रूप में सभी आंकड़ों चाहे वो संक्रमण के हों या मृत्यु...