Thursday, January 28, 2021
9.3 C
Delhi

कोविड-19 से ठीक होने की राष्ट्रीय दर में तेजी से सुधार जारी; 61.53% पर पहुंचा

Must read

12,351 करोड़ रुपये का अनुदान ग्रामीण निकायों को जारी

वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग ने 18 राज्यों के ग्रामीण निकायों को 12,351.5 करोड़ रुपये की राशि जारी की है। यह राशि वित्त वर्ष 2020-21 में जारी किए...

कैबिनेट ने सीजन 2021 के लिए कोपरा के न्यूनतम समर्थन मूल्य को मंजूरी दी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने 2021 सीजन के लिए कोपरा के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को...

कला हमें जीवन की सही परख सिखाती है – मोहित मदनलाल ग्रोवर

युवाओं को कला के क्षेत्र में प्रशिक्षित करने में जुटी गुरुग्राम टैलेंटहंट द्वारा गणतंत्र दिवस के अवसर पर रविवार को सैक्टर 7...

मैं अपनी पीढ़ी को आइटम डांस से बचाना चाहती हूं : दूर्बा सहाय

रेणुका, कथक गुरु भावना सरस्वती की शिष्या, ने उनसे सीखे नृत्य में एक नया आयाम जोड़ना शुरू किया। इसने भावना को एक असुरक्षा और...

कोविड-19 का पता लगाने के लिए नमूनों के जांच की संख्या में प्रति दिन बढ़ोत्तरी हो रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान 2,62,679 नमूनों की जांच की गई है, जिनमें से 53,000 से ज्यादा नमूनों की जांच निजी प्रयोगशालाओं में की गई है। अब तक जांच किए गए नमूनों की कुल संख्या 1,04,73,771 हो चुकी है। इसके परिणामस्वरूप, आज जांच की संख्या प्रति मिलियन, 7,180 तक पहुंच गई हैं। जिसका मुख्य कारण, केंद्र सरकार द्वारा राज्य/ केंद्र शासित प्रदेश की सरकारों के साथ मिलकर कोविड-19 महामारी के लिए “जांच, खोज, उपचार” की रणनीति का मुस्तैदी से पालन करना है।

कोविड-19 की जांच में प्रशंसनीय वृद्धि का एक महत्वपूर्ण घटक, देश भर में नैदानिक ​​प्रयोगशालाओं की संख्या में बढ़ोत्तरी है। सरकारी क्षेत्र में 795 प्रयोगशालाओं और निजी क्षेत्र में प्रयोगशालाओं के साथ, देश में प्रयोगशालाओं की कुल संख्या 1,119 हैं। इनमें शामिल हैं:

  • रियल-टाइम आरटी पीसीआर आधारित परीक्षण प्रयोगशालाएं: 600 (सरकारी: 372 + निजी: 228)
  • ट्रुनेट आधारित परीक्षण प्रयोगशालाएं: 426 (सरकारी: 390 + निजी: 36)
  • सीबी नाट आधारित परीक्षण प्रयोगशालाएं: 93 (सरकारी: 33 + निजी: 60)

आईसीयू और ऑक्सीजन समर्थित बिस्तरों, वेंटिलेटरों और अन्य उपकरणों द्वारा पर्याप्त रूप से समर्थित, विभिन्न प्रकार की कोविड सुविधाओं के बढ़ते स्वास्थ्य देखभाल अवसंरचना ने कोविड-19 के सकारात्मक मामलों का समय पर पता लगाया है और उसका प्रभावी नैदानिक प्रबंधन सुनिश्चित किया है। कोविड-19 के ज्यादा रोगियों के ठीक होने के साथ, वर्तमान समय में ठीक हुए मामलों और सक्रिय मामलों के बीच की संख्या का अंतर बढ़कर 1,91,886 हो चुका है।

पिछले 24 घंटों के दौरान, कोविड-19 के कुल 16,883 रोगी ठीक हो चुके हैं, जिससे ठीक हुए मामलों की कुल संख्या अब बढ़कर 4,56,830 हो गई है।

कोविड-19 रोगियों के बीच ठीक होने की दर दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। आज यह बढ़कर 61.53% तक हो गई है।

वर्तमान में, सक्रिय मामलों की संख्या 2,64,944 है और सभी मामले चिकित्सा निगरानी के अंतर्गत हैं।

कोविड-19 से संबंधित तकनीकी मुद्दों, दिशा-निर्देशों और सलाहों के बारे में सभी प्रामाणिक और अद्यतन जानकारी के लिए, नियमित रूप से देखें: https://www.mohfw.gov.in/ और @MoHFW_INDIA

कोविड-19 से संबंधित तकनीकी प्रश्नों को technicalquery.covid19@gov.in पर और अन्य प्रश्नों को ncov2019@gov.in पर ईमेल और @CovidIndiaSeva पर ट्वीट पूछा जा सकता है।

कोविड-19 से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के हेल्पलाइन नंबर- : +91-11-23978046 or 1075 (टोल फ्री) पर कॉल करें।

कोविड-19 पर राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों के हेल्पलाइन नंबरों की सूची https://www.mohfw.gov.in/pdf/coronvavirushelplinenumber.pdf पर उपलब्ध है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

12,351 करोड़ रुपये का अनुदान ग्रामीण निकायों को जारी

वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग ने 18 राज्यों के ग्रामीण निकायों को 12,351.5 करोड़ रुपये की राशि जारी की है। यह राशि वित्त वर्ष 2020-21 में जारी किए...

कैबिनेट ने सीजन 2021 के लिए कोपरा के न्यूनतम समर्थन मूल्य को मंजूरी दी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने 2021 सीजन के लिए कोपरा के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को...

कला हमें जीवन की सही परख सिखाती है – मोहित मदनलाल ग्रोवर

युवाओं को कला के क्षेत्र में प्रशिक्षित करने में जुटी गुरुग्राम टैलेंटहंट द्वारा गणतंत्र दिवस के अवसर पर रविवार को सैक्टर 7...

मैं अपनी पीढ़ी को आइटम डांस से बचाना चाहती हूं : दूर्बा सहाय

रेणुका, कथक गुरु भावना सरस्वती की शिष्या, ने उनसे सीखे नृत्य में एक नया आयाम जोड़ना शुरू किया। इसने भावना को एक असुरक्षा और...

“फोन को नीचे रखिए, और फिर से प्रेम पत्र लिखना शुरू करिए”: फ़िल्म ‘एन इम्पॉसिबल प्रोजेक्ट’

अपने फोन नीचे रखे दो और अपना डिजिटल डिटॉक्स होने दो। ये वो असंभव सा लगने वाला आह्वान है जो एक जर्मन...