Wednesday, May 12, 2021
34 C
Delhi

नवीनतम जानकारी कोविड-19 टीकाकरण के 31वें दिन की

कोविड-19 के खिलाफ 85 लाख से अधिक लाभार्थियों का टीकाकरण

Must read

जीवन यापन के लिए 70 साल की बुजुर्ग महिला कोविड काल में फल बेचने को मजबूर

आज के समय में जहां कोरॉना की दूसरी लहर अपने रौद्र रूप में सभी आंकड़ों चाहे वो संक्रमण के हों या मृत्यु...

गढ़वाल सभा के संस्थापक सदस्य राम चंद्र शास्त्री का निधन

        गढ़वाल सभा रजि गुड़गांव के संस्थापक सदस्य एवं अध्यक्ष  हेमन्त बहुखण्डीं जी के पिता व अध्यापक राम चन्द्र शास्त्री जी का लंबे समय...

बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

नोमोश्कार !बांग्लादेश के राष्ट्रपतिअब्दुल हामिद जी,प्रधानमन्त्रीशेख हसीना जी, आप सभी का ये स्नेह मेरे जीवन के अनमोल पलों में से एक...

स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव – मोहित मदनलाल ग्रोवर

गुरुग्राम : "स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की वीरता व योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव...

कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण के तहत टीका लगवाने वाले स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स की संख्या 85 लाख को पार कर चुकी है। प्रारंभिक रिपोर्ट के मुताबिक 85,16,771 लाभार्थियों को आज शाम 6 बजे तक टीका लगा। इनमें 60,57,162 स्वास्थ्यकर्मियों (एचसीडब्ल्यू) को वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है जबकि 98,118 स्वास्थकर्मी दूसरी खुराक ले चुके हैं। 23,61,491 फ्रंटलाइन वर्कर्स (एफएलडब्ल्यू) ने पहली खुराक ली है। देशभर में 16 जनवरी को टीकाकरण अभियान शुरू किया गया था। वहीं फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए टीकाकरण 2 फरवरी 2021 से शुरू किया गया था।

देशभर में कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण अभियान के 31वें दिन कुल 2,31,476 लाभार्थियों को आज शाम 6 बजे तक टीका लगा। प्रारंभिक रिपोर्ट के मुताबिक जिन 1,57,919 लाभार्थियों को पहली खुराक दी गई थी उनमें 73,557 स्वास्थ्यकर्मियों को दूसरी खुराक दी गई है। फाइनल रिपोर्ट आज रात तक तैयार कर ली जाएगी।

आज शाम 6 बजे तक 9,935 सत्रों का आयोजन किया गया।

आज सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड टीकाकरण का आयोजन किया गया।

क्रम संख्या

राज्य/केंद्र शासित प्रदेश

टीकाकरण के लाभार्थी
पहली खुराक दूसरी खुराक कुल खुराक
1 अंडमान और निकोबार दीप समूह 3,847 182 4,029
2 आंध्र प्रदेश 3,58,944 10,638 3,69,582
3 अरुणाचल प्रदेश 16,141 1,250 17,391
4 असम 1,28,032 3,165 1,31,197
5 बिहार 4,93,212 1,727 4,94,939
6 चंडीगढ़ 9,212 144 9,356
7 छत्तीसगढ़ 2,71,525 3,325 2,74,850
8 दादर और नगर हवेली 2,922 41 2,963
9 दमन और दीव 1,121 30 1,151
10 दिल्ली 1,91,005 2,318 1,93,323
11 गोवा 13,166 517 13,683
12 गुजरात 6,88,960 8,080 6,97,040
13 हरियाणा 1,97,800 2,792 2,00,592
14 हिमाचल प्रदेश 81,482 475 81,957
15 जम्मू और कश्मीर 1,45,600 1,849 1,47,449
16 झारखंड 2,16,081 3,928 2,20,009
17 कर्नाटक 5,00,112 10,838 5,10,950
18 केरल 3,63,902 3,570 3,67,472
19 लद्दाख 2,904 77 2,981
20 लक्षदीप 1,776 0 1,776
21 मध्य प्रदेश 5,67,219 0 5,67,219
22 महाराष्ट्र 6,94,667 2,028 6,96,695
23 मणिपुर 24,844 277 25,121
24 मेघालय 14,230 164 14,394
25 मिजोरम 12,240 227 12,467
26 नगालैंड 11,006 308 11,314
27 ओडिशा 4,13,408 4,139 4,17,547
28 पुडुचेरी 6,320 193 6,513
29 पंजाब 1,06,453 1,008 1,07,461
30 राजस्थान 6,11,335 1,046 6,12,381
31 सिक्किम 8,543 0 8,543
32 तमिलनाडु 2,55,038 3,244 2,58,282
33 तेलंगाना 2,79,010 7,178 2,86,188
34 त्रिपुरा 73,375 1,485 74,860
35 उत्तर प्रदेश 8,96,254 15,014 9,11,268
36 उत्तराखंड 1,14,059 1,200 1,15,259
37 पश्चिम बंगाल 5,26,890 5,231 5,32,121
38 अन्य 1,16,018 430 1,16,448
कुल 84,18,653 98,118 85,16,771

चौदह राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों ने पंजीकृत स्वास्थ्यकर्मियों का 70 प्रतिशत से अधिक टीकाकरण किया जा चुका है। ये हैं – बिहार, लक्षद्वीप, त्रिपुरा, ओडिशा, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, झारखंड, केरल, राजस्थान, मिज़ोरम और सिक्किम।

क्रम संख्या राज्य/केंद्र शासित प्रदेश कवरेज (प्रतिशत)
1. लक्षदीप 81%
2. बिहार 81.6%
3. त्रिपुरा 79.5%
4. ओडिशा 78.1%
5. मध्य प्रदेश 75.8%
6. उत्तराखंड 75.2%
7. हिमाचल प्रदेश 74.5%
8. छत्तीसगढ़ 74.9%
9. उत्तर प्रदेश 72%
10. झारखंड 72%
11. केरल 71.3%
12. राजास्थान 70.9%
13. मिजोरम 71.6%
14. सिक्किम 70.1%

दूसरी तरफ पांच राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 40 प्रतिशत से कम पंजीकृत स्वास्थ्यकर्मियों का टीकाकरण किया गया है। ये तमिलनाडुपंजाबचंडीगढ़नागालैंड और पुडुचेरी हैं।

10 राज्यों ने सबसे अधिक टीकाकरण दर्ज किए हैं, जिनमें उत्तर प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़, झारखंड, तमिलनाडु और मध्य प्रदेश हैं।

अब तक 35 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा है जो कुल टीकाकरण का 0.0004 प्रतिशत है। जिन 35 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था उनमें से 21 को इलाज के बाद छुट्टी दी जा चुकी है जबकि 11 लोगों की मौत हुई है और तीन का इलाज चल रहा है। पिछले 24 घंटों में, मध्य रेटिनल वीनस इंक्लूजन से पीड़ित एक व्यक्ति को उच्च रक्तचाप के चलते मध्य प्रदेश में इंदौर के बॉम्बे हॉस्पिटल में भर्ती कराना पड़ा है।

अब तक कुल 28 मौतें हुई हैं यह कुल कोविड-19 टीकाकरण का 0.0003 प्रतिशत है। 28 में से 11 लोगों की मौत अस्पताल में जबकि 17 मौतें अस्पताल से बाहर हुई हैं।

आज तक प्रतिकूल प्रभाव को लेकर गंभीर मामलों या मौत का कोई भी मामला टीकाकरण से जुड़ा हुआ नहीं है।

पिछले 24 घंटे में 53 साल के एक पुरुष की मौत का मामला सामने आया है जो उत्तर प्रदेश के देवरिया का है। टीकाकरण के दूसरे दिन इस शख्स को सांस लेने में दिक्कत और सीना में दर्द होने पर अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

जीवन यापन के लिए 70 साल की बुजुर्ग महिला कोविड काल में फल बेचने को मजबूर

आज के समय में जहां कोरॉना की दूसरी लहर अपने रौद्र रूप में सभी आंकड़ों चाहे वो संक्रमण के हों या मृत्यु...

गढ़वाल सभा के संस्थापक सदस्य राम चंद्र शास्त्री का निधन

        गढ़वाल सभा रजि गुड़गांव के संस्थापक सदस्य एवं अध्यक्ष  हेमन्त बहुखण्डीं जी के पिता व अध्यापक राम चन्द्र शास्त्री जी का लंबे समय...

बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

नोमोश्कार !बांग्लादेश के राष्ट्रपतिअब्दुल हामिद जी,प्रधानमन्त्रीशेख हसीना जी, आप सभी का ये स्नेह मेरे जीवन के अनमोल पलों में से एक...

स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव – मोहित मदनलाल ग्रोवर

गुरुग्राम : "स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की वीरता व योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव...

सिक्किम को फिल्मों के लिए सबसे ज्यादा अनुकूल राज्य का पुरस्कार

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के निर्णायक मंडल (ज्युरी) ने सोमवार को वर्ष 2019 के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा की। पुरस्कारों की घोषणा से पहले...