Wednesday, May 12, 2021
34 C
Delhi

राज्य स्वास्थ्य योजनाओं के साथ आयुष्मान भारत योजना का विलय

Must read

जीवन यापन के लिए 70 साल की बुजुर्ग महिला कोविड काल में फल बेचने को मजबूर

आज के समय में जहां कोरॉना की दूसरी लहर अपने रौद्र रूप में सभी आंकड़ों चाहे वो संक्रमण के हों या मृत्यु...

गढ़वाल सभा के संस्थापक सदस्य राम चंद्र शास्त्री का निधन

        गढ़वाल सभा रजि गुड़गांव के संस्थापक सदस्य एवं अध्यक्ष  हेमन्त बहुखण्डीं जी के पिता व अध्यापक राम चन्द्र शास्त्री जी का लंबे समय...

बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

नोमोश्कार !बांग्लादेश के राष्ट्रपतिअब्दुल हामिद जी,प्रधानमन्त्रीशेख हसीना जी, आप सभी का ये स्नेह मेरे जीवन के अनमोल पलों में से एक...

स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव – मोहित मदनलाल ग्रोवर

गुरुग्राम : "स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की वीरता व योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव...

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने आज राज्य सभा मे कहा कि आयुष्मान भारत – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई) एक केंद्र प्रायोजित योजना है। इस समय यह देश के 32 राज्यों और संघ राज्य क्षेत्रों में कार्यान्वित की जा रही है। स्कीम के डिजाइन के अनुसार, एबी-पीएमजेएवाई कार्यान्वित करने वाले राज्य/संघ राज्य क्षेत्र अपनी लागत पर एबी-पीएमजेएवाई के अनुरूप अपनी स्वास्थ्य सुरक्षा योजनाएं प्रचालित कर सकते हैं। इस व्यवस्था के तहत, राज्य/संघ राज्य क्षेत्र स्वास्थ्य लाभ पैकेजों, साझा आईटी मंच और पीएमजेएवाई के पैनलबद्ध अस्पताल नेटवर्क का उपयोग कर सकते हैं।

इस योजना का निधियन केंद्र और राज्य सरकारों के बीच साझा किया जाता है। पूर्वोत्तर राज्यों और हिमालयी राज्यों तथा विधानमंडल वाले संघ राज्य क्षेत्रों को छोड़कर, सभी राज्यों के लिए केंद्र और राज्य के योगदान का अनुपात 60:40 है। पूर्वोत्तर राज्य और हिमालयी राज्यों के लिए, यह अनुपात 90:10 है। ऐसे संघ राज्य क्षेत्र, जहां विधानमंडल नहीं है, प्रीमियम का केंद्रीय अंशदान 100% है।

19,506 करोड़ रुपए लागत की 1.57 करोड़ अस्पताल भर्तियों को एबी-पीएमजेएवाई के अंतर्गत प्राधिकृत किया गया है। इनमें कुछेक राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों द्वारा विस्तारित लाभार्थी आधार के अनुरूप उपयोग डाटा शामिल है। प्राधिकृत अस्पताल भर्ती का स्पेशलिटी-वार ब्यौरा अनुलग्नक में है। राज्य स्वास्थ्य स्कीमों से तुलना के लिए कोई डाटा उपलब्ध नहीं है।

संख्याऔरधनराशिकेअनुसारअस्पतालभर्तियोंकास्पेशलिटीवारब्यौरा

स्पेशलिटीप्राधिकृतअस्पतालभर्ती (संख्या)प्राधिकृतअस्पतालभर्ती (करोड़रुपएमेंधनराशि)
बर्न्स मैनेजमेंट1565567
कार्डियोलॉजी2963751479
कार्डियो-थोरासिस वैस्कुलर सर्जरी84346850
डायग्नोस्टिक्स36390596
इमरजेंसी रूम पैकेज्स191487108
जनरल सर्जरी17163861707
इनफेक्टियस डिज़ीज811679214
इंटरवेंशनल न्यूरोरेडियोलॉजी577844
मेडिकल मैनेजमेंट38330112193
मेंटल डिसऑर्डर्स पैकेज्स106829
मल्टीपल स्पेशलिटीज़4725162084
न्यू-नेटल केयर229645567
न्यूरोसर्जरी87081408
ऑब्सटेट्रिक्स एंड गायनेकोलॉजी11544821124
ओंकोलॉजी10244251674
ऑफ्थल्मोलॉजी688016544
ओरल एंड मैक्सीलोफेशियल सर्जरी18683962
ऑर्गन ट्रांसप्लांट्स1280.2
ऑर्थोपेडियक5698041546
ओथोरिनोलेरियंगोलॉजी (ईएनटी)115969155
पेडियाट्रिक मेडिकल मैनेजमेंट254738480
पेडियाट्रिक सर्जरी2691991
प्लास्टिक एंड रिकंस्ट्रक्टिव सर्जरी699722
पॉलीट्रामा2051979
अनस्पेसिफाइड सर्जिकल पैकेज्स13813
यूरोलॉजी356570670
- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

जीवन यापन के लिए 70 साल की बुजुर्ग महिला कोविड काल में फल बेचने को मजबूर

आज के समय में जहां कोरॉना की दूसरी लहर अपने रौद्र रूप में सभी आंकड़ों चाहे वो संक्रमण के हों या मृत्यु...

गढ़वाल सभा के संस्थापक सदस्य राम चंद्र शास्त्री का निधन

        गढ़वाल सभा रजि गुड़गांव के संस्थापक सदस्य एवं अध्यक्ष  हेमन्त बहुखण्डीं जी के पिता व अध्यापक राम चन्द्र शास्त्री जी का लंबे समय...

बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

नोमोश्कार !बांग्लादेश के राष्ट्रपतिअब्दुल हामिद जी,प्रधानमन्त्रीशेख हसीना जी, आप सभी का ये स्नेह मेरे जीवन के अनमोल पलों में से एक...

स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव – मोहित मदनलाल ग्रोवर

गुरुग्राम : "स्वतंत्रता के इतिहास में शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की वीरता व योगदान को शब्दों में वर्णित करना असंभव...

सिक्किम को फिल्मों के लिए सबसे ज्यादा अनुकूल राज्य का पुरस्कार

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के निर्णायक मंडल (ज्युरी) ने सोमवार को वर्ष 2019 के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा की। पुरस्कारों की घोषणा से पहले...