Wednesday, September 29, 2021
27.1 C
Delhi

लवलीना बोरगोहेन एक और पदक पर होल्ड, इंडिया मांगे गोल्ड

Must read

गुरुग्राम में शुरू होगा हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय का ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेंटर

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेवि), महेंद्रगढ़ का ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेंटर गुरुग्राम में शुरु होने जा रहा है। इस केंद्र के माध्यम से विश्वविद्यालय में...

भारत देश भारतीय स्वतंत्रता संग्राम क्रांतिकारियों के कारनामों से भरा हुआ है – बजरंग गर्ग

हिसार - हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी जिला हिसार द्वारा कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्षता श्रीमती सोनिया गांधी व प्रदेश अध्यक्ष बहन कुमारी शैलजा जी...

छोटे किसान कर रहे हैं सामूहिक खेती : चेयरमैन नबार्ड

गुरुग्राम : छोटे छोटे किसान फिलहाल सामूहिक रूप से खेती कर रहे हैं यह देश में एक बड़ा सकारात्मक बदलाव है यह कहना था...

हमारा काम लोगो की मदद करना है: राहुल गांधी

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी भारतीय युवा कांग्रेस के प्रांगण में कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे। कार्यक्रम...

लवलीना बोरगोहेन 2अक्टूबर 1997 में असम के गोलाघाट जिले के बरोमुखिया गांव में पिता टिकेन और माता मामोनी बोरगोहन के घर पर हुआ। पिता टिकेन एक छोटे व्यापारी थे लावलिना से बड़ी उनकी दो जुड़वां पुत्रियां और थीं जोकि राष्ट्रीय स्तर की किक बॉक्सिंग की खिलाड़ी रहीं परंतु अपनी खेल यात्रा को जारी नही रख सकीं।
अपनी बड़ी बहनों की तरह लवलीना ने भी अपनी शुरुआत किक बॉक्सिंग से की और उसमे सफलता भी पाई परंतु उनका रुझान बॉक्सिंग के प्रति बढ़ने लगा मौका मिलते ही बॉक्सिंग में चली गईं।
जिसका परिणाम ये रहा कि वियतनाम विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप वर्ष 2017 में कांस्य पदक अपने नाम किया और इसी वर्ष जून में प्रेसिडेंट कप, अस्थाना में भी कांस्य पदक पर कब्जा किया।
राष्ट्रमंडल खेल 2018 में वेल्टरवेट मुक्केबाजी की श्रेणी में 69 किग्रा वर्ग में उनका चयन हुआ जहां क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ब्रिटेन की सैंडी रयान के हाथों हार का सामना करना पड़ा। लेकिन ओपन अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी चैंपियनशिप दिल्ली और गुवाहाटी में स्वर्ण और रजत पदक अपने नाम कर ये बता दिया कि उनके बॉक्सिंग पंच पदक जीतने का मादा रखते हैं।
बोरगोहेन एआईबीए महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप 2018 और 2019 में कांस्य पदकों पर पंच मारने में सफल रहीं।
ये सिलसिला यहीं नहीं थमा और पदकों की दौड़ में जून 2018 मंगोलिया, उलानबातर में रजत तो सितंबर 2018 में ही पोलैंड में आयोजित 13वीं अंतराष्ट्रीय चैंपियनशिप कांस्य पदक भारत के नाम किया।
मार्च 2020में एशिया ओलंपिक क्वालीफायर मुक्केबाजी टूर्नामेंट के 69 किग्रा वर्ग में मुफतुनाखोंन मेलिएवा को एक तरफा मुकाबले में 5-0 से करारी शिकस्त दे कर अपनी ओलंपिक दावेदारी को सुनिश्चित किया।
अक्टूबर 2020 में कोरोना संक्रमित होने के कारण इटली जाने वाले खिलाड़ी दल का हिस्सा बनने से वंचित होना पड़ा।
इस बीच ओलंपिक से पहले जब सभी खिलाड़ी ट्रेनिंग में व्यस्त थे उनकी माता का किडनी का इलाज चल रहा था और बॉक्सिंग ट्रेनिंग से परे अपनी मां के साथ थीं। जब वो ट्रेनिंग पर लौटी तो कोचिंग स्टाफ के लोग संक्रमित थे। ट्रेनिंग वीडीओ की मदद से अपनी बॉक्सिंग प्रैक्टिस की और आज हर बाधा को पार कर ओलंपिक में क्वार्टर फाइनल मे चीनी ताइपे की पूर्व विश्व चैंपियन निएन चिन चेन को 4-1 से हरा कर सेमीफाइनल के साथ साथ भारत के लिए दूसरे पदक को फाइनल कर दिया। अब तो 4अगस्त का मुकाबला पदक के रंग को तय करेगा।
सेमीफाइनल राउंड में लवलीना बोरगोहेन का मुकाबला तुर्की की विश्व चैंपियन बुसानेज सुरमेनेली से होगा जिसने क्वार्टर फाइनल में अन्ना लिसेंको को मात दी थी।
लवलीना असम की पहली मुक्केबाज खिलाड़ी बनी जिसने ओलंपिक में क्वालीफाई किया और शिव थापा के बाद असम से दूसरी खिलाड़ी बनी जिसने ओलंपिक में भारत को गौरवान्वित किया। आपको बता दें कि भारत के लिए ओलंपिक मेडल सुनिश्चित करने वाली लवलीना असम से अर्जुन पुरुस्कार पाने वाली छटी खिलाड़ी भी हैं।
पूरे भारत वर्ष को ये तो निश्चित है कि पदक है जरूर और स्वर्ण दो कदम है दूर।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

गुरुग्राम में शुरू होगा हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय का ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेंटर

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेवि), महेंद्रगढ़ का ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेंटर गुरुग्राम में शुरु होने जा रहा है। इस केंद्र के माध्यम से विश्वविद्यालय में...

भारत देश भारतीय स्वतंत्रता संग्राम क्रांतिकारियों के कारनामों से भरा हुआ है – बजरंग गर्ग

हिसार - हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी जिला हिसार द्वारा कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्षता श्रीमती सोनिया गांधी व प्रदेश अध्यक्ष बहन कुमारी शैलजा जी...

छोटे किसान कर रहे हैं सामूहिक खेती : चेयरमैन नबार्ड

गुरुग्राम : छोटे छोटे किसान फिलहाल सामूहिक रूप से खेती कर रहे हैं यह देश में एक बड़ा सकारात्मक बदलाव है यह कहना था...

हमारा काम लोगो की मदद करना है: राहुल गांधी

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी भारतीय युवा कांग्रेस के प्रांगण में कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे। कार्यक्रम...

साइबर सिटी का बारिश से हाल बेहाल ओल्ड डीएलएफ नदी नाले में तब्दील

राजेंद्र कुमार रावत/गुरुग्राम: ओल्ड डीएलएफ की सड़क जो केंद्रीय विद्यालय और आकाश इंस्टीट्यूट के मध्य गुजरती है, थोड़ी सी बारिश ने प्रशासन की मानो पोल...