17 C
Delhi
Wednesday, October 28, 2020

मानसून मे त्वचा का रखे खास ख़्याल

कभी बरसात और गीले मौसम के कारण और कभी गरम और उमस भरे मौसम के कारण, आपकी त्वचा काफी जल्‍दी संक्रमण का शिकार बन जाती है। इस मौसम में हमें सिर की त्‍वचा पर संक्रमण, चेहरे की त्‍वचा का फटना, शरीर पर चकते पड़ना और पैरों या नाखूनों पर फंगस होना जैसी समस्‍याओं का सामना करना पड़ता है। तो यहां इस तरह के नुकसान का सामना करने के लिए हेयर एवं मेकअप एक्सपर्ट आश्मीन मुंजाल कुछ खास टिप्स लेकर आई हैं:

Must read

बरोदा उप चुनाव भाजपा-जजपा गठबंधन जीतेगा-चैधरी रणजीत सिंह

हरियाणा के बिजली मंत्री चैधरी रणजीत सिंह ने कहा कि बरोदा उप चुनाव भाजपा -जजपा गठबंधन जीतेगा क्योंकि जनता बहुत स्यानी...

गुरुग्राम को मिली 20 नई एंबुलेंस

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से गुरूग्राम जिला की स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर...

मरणोपरांत नाटक में रिश्तों की टीस को दर्शाया गया।

नाटक - मरणोपरांत मरणोपरांत सुरेंद्र वर्मा द्वारा लिखित एक यथार्थवादी मनोवैज्ञानिक नाटक है। यह एक दुर्घटना में पत्नी के...

मेयर कार्यालय में आयोजित हुआ कोरोना जांच शिविर

गुरुग्राम। गुरुग्राम की मेयर मधु आजाद के वार्ड-7 स्थित राजीव नगर कार्यालय में स्वास्थ्य विभाग द्वारा निशुल्क कोरोना जांच शिविर का आयोजन...

मानसून के मौसम में आपके सिर के बाल अस्‍वास्‍थकर (अनहेल्‍दी) और गंदे हो जाते हैं क्योंकि अब बारिश के पानी में अनेक प्रकार के केमिकल्‍स और विषैले तत्‍व मिले होते हैं। ऐसे में एक अच्छे शैम्पू और एक अच्छे कंडीशनर का प्रयोग करें जो आपके बालों के शाफ्ट को बनाए रखता है और आपके बालों की नमी को बाहर नहीं जाने देता। अपने बालों की नियमित रूप से तेल की मालिश करना भी बेहद जरूरी है क्योंकि बरसात के दौरान वातावरण में नमी की मात्रा काफी अधिक होती है जो आपके बालों की जड़ों को बंद कर देती है। तेल लगाने के बाद भी बालों की स्टीमिंग और मास्किंग की जानी चाहिये। यदि आप घर पर ही मास्‍क तैयार करना चाहते हैं तो सबसे अच्‍छा विकल्‍प जो मैं सुझा सकता हूं कि आप अवोकेडो (avocados) के साथ केला, जैतून का तेल या आंवला, रीठा और शिकाकाई जैसी सामग्री (इंग्रेडिएंट) का प्रयोग कर सकते हैं। नियमित अंतराल में (समय-समय पर) अपने बालों को कंघी करने का प्रयास करें।

मानसून के दौरान, सिंथेटिक या टाइट कपड़े न पहनें। ढीले और सूती कपड़ें पहन कर अपने शरीर को सांस लेने (respiration) के लिये पर्याप्त जगह देने की कोशिश करें वरना आपको स्किन इंफेक्‍शन और चकते पड़ने जैसी परेशानियों का सामना करना पड़़ सकता है। हमेशा ध्‍यान रखने वाली सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको अपनी त्वचा पर सभी कीटाणुनाशक उत्पादों (disinfectant products) जैसे साबुन, पाउडर, बॉडी लोशन इत्यादि का प्रयोग करना चाहिए जो नमी और शरीर से पसीना आने के दौरान भी आपकी त्वचा को सभी प्रकार के संक्रमणों से बचाने में मदद करते हैं।


अपने नाखूनों को अधिक साफ़ और स्‍वच्‍छ (हाइजीनिक) रखने का प्रयास करें ताकि आप नाखूनों को संक्रमित होने से बचा सकें। मैनीक्योर और पेडीक्योर करवाते समय अतिरिक्त सावधानी बरतें और यह सुनिश्चित करें कि आप हमेशा एंटीसेप्टिक पानी में ही अपने नाखूनों को डुबोएं और आपके द्वारा उपयोग किए जा रहे उपकरण साफ और स्‍वच्‍छ हों। नाखून और पैरों को खुली हवा देने के लिये खुले मुंह वाले फुटवियर पहनें जो इन्‍हें फंगस से बचाने में मदद करती है। रात के समय गुनगुने पानी से अपने बालों को भाप दें और पैरों की हल्‍की सूखी मालिश करें।
मुंहासे, चकत्ते या रंजकता (pigmentation) को रोकने के लिए अपने चेहरे को हमेशा साफ रखें। आप चेहरा साफ रखने के लिये कीटाणुनाशक गीले ऊतक (disinfectant wet tissues) का उपयोग कर सकते हैं। अधिक ऑयली मेकअप प्रोडक्‍टों का उपयोग न करें। आपके मेकअप प्रोडक्‍ट, पाउडर या मिनरल बेस्‍ड होने चाहियें जो आपकी स्किन के लिये फ्रेंडली होते हैं। इसके अलावा, अच्छी गुणवत्ता वाले मेकअप उत्पादों का ही उपयोग करें क्योंकि आपकी त्वचा हाई टैम्‍परेचर और नमी के कारण जल्‍द इंफेक्‍शन का शिकार हो जाती है।
आपकी त्वचा और शरीर यह दर्शाते हैं कि आप उन्हें क्या खिलाते हैं। इसलिए, इस बात के प्रति हमेशा सावधान रहें कि आप क्या खाते हैं। कोशिश करें कि आप फास्ट फूड या अनहेल्दी खाना न खाएं। यदि आप फास्ट फूड खाना ही चा‍हते हैं या खाने को मजबूर हैं तो आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपका खाना ताजा और गर्म हो। पहले से पकाया हुआ खाना बिल्‍कुल न खाएं।
कुल मिलाकर, अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए प्रतिदिन 10-12 गिलास पानी पीने की कोशिश करें ताकि आप शरीर में मौजूद बैक्टीरिया को यूरेन के माध्यम से बाहर निकाल सकें। इसलिए, प्रतिदिन काफी मात्रा में तरल पदार्थ पीने की कोशिश करें और अपने शरीर को साफ और स्‍वच्‍छ रख्‍ना सुनिश्चित करें। इसके लिये आप सुबह और शाम दोनों समय स्नान कर सकते हैं। सिंथेटिक कपड़ों की बजाये सूती कपड़े अधिक पहनने की कोशिश करें।

SHIVANI SAXENA

तो, ये कुछ तरीके हैं जिनके माध्यम से आप अपने शरीर को साफ और कीटाणुमुक्त (disinfectants ) रख सकते हैं।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

बरोदा उप चुनाव भाजपा-जजपा गठबंधन जीतेगा-चैधरी रणजीत सिंह

हरियाणा के बिजली मंत्री चैधरी रणजीत सिंह ने कहा कि बरोदा उप चुनाव भाजपा -जजपा गठबंधन जीतेगा क्योंकि जनता बहुत स्यानी...

गुरुग्राम को मिली 20 नई एंबुलेंस

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से गुरूग्राम जिला की स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर...

मरणोपरांत नाटक में रिश्तों की टीस को दर्शाया गया।

नाटक - मरणोपरांत मरणोपरांत सुरेंद्र वर्मा द्वारा लिखित एक यथार्थवादी मनोवैज्ञानिक नाटक है। यह एक दुर्घटना में पत्नी के...

मेयर कार्यालय में आयोजित हुआ कोरोना जांच शिविर

गुरुग्राम। गुरुग्राम की मेयर मधु आजाद के वार्ड-7 स्थित राजीव नगर कार्यालय में स्वास्थ्य विभाग द्वारा निशुल्क कोरोना जांच शिविर का आयोजन...

गुरुग्राम में पल्स पोलियो अभियान को सफल बनाने के लिए अधिकारियों को दिए गए दिशा निर्देश।

- गुरुग्राम जिला में 1 से 3 नवंबर तक चलाया जायगा पल्स पोलियो अभियान।  - 1 लाख 60 हजार...