20 C
Delhi
Friday, October 23, 2020

प्रदर्शन के साथ प्रधानमंत्री के नाम सौपा ज्ञापन

Must read

लॅान्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में रखें इन बातों का ख्याल

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में कई तरह की मुश्किलें आती है। और इसे बनाए रखना भी काफी मुश्किल होता है। जल्दी गलतफेहमी होने...

बिहार चुनाव फैसला किसके पक्ष में?

बिहार देश का पहला ऐसा राज्य बनने जा रहा है जहाँ कोरोना महामारी के बीच चुनाव होने जा रहे हैं और भारत...

डेवेलपर ने कागजों में स्पेस बेच किया 250 करोड़ का घोटाला

मकान खरीददारों ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख की सीबीआई जांच की मांग। रेरा गुरुग्राम की जांच में भी डेवेलपर का 250 करोड़ का घोटाला आया सामने

जो सरकार महिलाओं को सुरक्षा नहीं दे सकती, उस सरकार से क्या उम्मीद की जा सकती है : लक्ष्य

बाराबंकी || दिनांक 18 अक्टूबर 2020 को लक्ष्य की टीम ने बाराबंकी के गांव पिपरी मजरा सेठमऊ का दौरा किया जिसमें दिनांक 14 अक्टूबर...

समस्त प्रदेश में जारी विरोध प्रदर्शनों में ट्रेड यूनियन के आव्हान पर हरियाणा कर्मचारी महासंघ से संबंधित हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर्स यूनियन ने कर्मचारी विरोधी नीतियों के खिलाफ लघु सचिवालय सेक्टर-12 पर एकत्र होकर प्रदर्शन करते हुए फरीदाबाद के जिला उपायुक्त के माध्यम से एसडीएम रन विजय को देश के प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। विरोध प्रदर्शन करते हुए विभिन्न विभागों के कर्मचारी एचएसईबी वर्कर यूनियन के प्रदेश महासचिव सुनील खटाना के नेतृत्व में सरकार के खिलाफ नारेबाजी की जिसमे उन्होंने केन्द्र सरकार व प्रदेश की गठबंधन सरकार के खिलाफ अपना रोष जाहिर किया। कर्मचारियों के इस प्रदर्शन को संबोधित करते हुए महासचिव सुनील खटाना ने बताया कि केन्द्र व राज्य की गठबंधन सरकार कर्मचारी और मजदूर विरोधी नीति अपनाकर कार्य कर रही है। जबकि प्रदेश का कर्मचारी पिछले छह महीने से कोरोना महामारी में पूरी निष्ठा से शिद्दत के साथ जनहित के कामों में जुटा हुआ है। अपनी जान की भी परवाह ना करते हुए स्वास्थ्य, बिजली, जनस्वास्थ्य और परिवहन विभाग जैसी अत्यंत जरूरी सेवाओं को संभाल रहे है। इसके बावजूद प्रदेश सरकार आमजन मानुष से सीधे सरोकार रखने वाले इन महत्त्वपूर्ण विभागों को निजीकरण करने पर तुली है। प्रदेश में रोजगार का अभाव पहले से ही है। ऊपर से विभागों में लगे कर्मियों की आयेदिन छटनी की जा रही है। हाल ही में 1983 पीटीआई शारीरिक शिक्षकों को नौकरी से निकाल दिया गया  और जो पिछले कई दिनों से अनशन पर बैठे हैं। इनका समर्थन करते हुए यूनियन माँग करती है कि इन्हें बिना विलम्ब किये जल्द नौकरी पर लिया जाए।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

लॅान्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में रखें इन बातों का ख्याल

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में कई तरह की मुश्किलें आती है। और इसे बनाए रखना भी काफी मुश्किल होता है। जल्दी गलतफेहमी होने...

बिहार चुनाव फैसला किसके पक्ष में?

बिहार देश का पहला ऐसा राज्य बनने जा रहा है जहाँ कोरोना महामारी के बीच चुनाव होने जा रहे हैं और भारत...

डेवेलपर ने कागजों में स्पेस बेच किया 250 करोड़ का घोटाला

मकान खरीददारों ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख की सीबीआई जांच की मांग। रेरा गुरुग्राम की जांच में भी डेवेलपर का 250 करोड़ का घोटाला आया सामने

जो सरकार महिलाओं को सुरक्षा नहीं दे सकती, उस सरकार से क्या उम्मीद की जा सकती है : लक्ष्य

बाराबंकी || दिनांक 18 अक्टूबर 2020 को लक्ष्य की टीम ने बाराबंकी के गांव पिपरी मजरा सेठमऊ का दौरा किया जिसमें दिनांक 14 अक्टूबर...

गुरुग्राम बस डिपो कमेटी का विस्तार व मंथन बैठक।

आज हरियाणा रोडवैज वर्कर यूनियन रज़ि न 1 सम्बंधित इन्टक गुरुग्राम डिपो कि मीटिंग राज्य पर्धान श्री नसीब जाखड जी अध्यक्षता में...