30.6 C
Delhi
Sunday, July 19, 2020

तीन देशों के राजदूतों ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से राष्ट्रपति को सौंपे परिचय पत्र

Must read

मानसून मे त्वचा का रखे खास ख़्याल

मानसून के मौसम में आपके सिर के बाल अस्‍वास्‍थकर (अनहेल्‍दी) और गंदे हो जाते हैं क्योंकि अब बारिश के पानी में अनेक...

तनाव है तो होने दे, इसमें बुरा क्या है?

स्ट्रेस यानी तनाव। पहले इसके बारे में यदा कदा ही सुनने को मिलता था। लेकिन आज भारत समेत सम्पूर्ण विश्व के लगभग...

कोविड-19 से ठीक होने की राष्ट्रीय दर में तेजी से सुधार जारी; 61.53% पर पहुंचा

कोविड-19 का पता लगाने के लिए नमूनों के जांच की संख्या में प्रति दिन बढ़ोत्तरी हो रही है। पिछले 24 घंटे के...

सीबीडीटी और सेबी के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर हुए

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) और भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने दोनों संगठनों के बीच डेटा-साझा करने के उदेश्य से एक औपचारिक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर...

राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने आज न्यूजीलैंड, यूनाइटेड किंगडम और उज्बेकिस्तान के मिशन प्रमुखों से परिचय पत्र हासिल किए। ऐसा दूसरी बार है कि कोविड-19 महामारी के चलते वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से राष्ट्रपति भवन में परिचय पत्र स्वीकार किए गए हैं। अपना परिचय प्रस्तुत करने वाले हेड ऑफ मिशन इस प्रकार हैं :

  1. माननीय श्री डेविड पाइन, न्यूजीलैंड के उच्चायुक्त
  2. माननीय सर फिलिप बार्टन, ब्रिटेन (यूनाइटेड किंगडम) के उच्चायुक्त
  3. माननीय श्री अखातोव दिलशोद खामीदोविच, उज्बेकिस्तान गणराज्य के राजदूत

इस अवसर पर राष्ट्रपति श्री कोविंद ने राजदूतों को उनकी नियुक्ति पर अनेकों शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि भारत के इन तीनों देशों के साथ गहरे संबंध रहे हैं और अहम वैश्विक मुद्दों पर उनके साथ एक साझा दृष्टिकोण इन संबंधों की विशेषता है। राष्ट्रपति ने कहा कि कोविड-19 महामारी से प्रभावी रूप से निबटने के लिए वैश्विक सहयोग को बढ़ाना वर्तमान समय में जरूरी है। इस संदर्भ में, उन्होंने कहा कि इस महामारी को हराने की दिशा में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हो रहे प्रयासों में भारत आगे बढ़कर काम कर रहा है। तीनों देशों के साथ जीवंत संबंधों पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए राष्ट्रपति श्री कोविंद ने जोर देकर कहा कि वर्ष 2021-22 के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्य के रूप में भारत वैश्विक शांति और संपन्नता को मजबूती देने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ मिलकर काम करने को प्रतिबद्ध है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

मानसून मे त्वचा का रखे खास ख़्याल

मानसून के मौसम में आपके सिर के बाल अस्‍वास्‍थकर (अनहेल्‍दी) और गंदे हो जाते हैं क्योंकि अब बारिश के पानी में अनेक...

तनाव है तो होने दे, इसमें बुरा क्या है?

स्ट्रेस यानी तनाव। पहले इसके बारे में यदा कदा ही सुनने को मिलता था। लेकिन आज भारत समेत सम्पूर्ण विश्व के लगभग...

कोविड-19 से ठीक होने की राष्ट्रीय दर में तेजी से सुधार जारी; 61.53% पर पहुंचा

कोविड-19 का पता लगाने के लिए नमूनों के जांच की संख्या में प्रति दिन बढ़ोत्तरी हो रही है। पिछले 24 घंटे के...

सीबीडीटी और सेबी के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर हुए

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) और भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने दोनों संगठनों के बीच डेटा-साझा करने के उदेश्य से एक औपचारिक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर...

नकली चाइनीज माल का बहिष्कार करने के लिए किंग काजी लेकर आए अपना नया गाना ‘मेड इन चाइना’

गलवां घाटी में चीन द्वारा किए गए कायराना हमले में देश के बीस जवानों के शहीद होने की घटना से पूरे देश...