कोलकाता के वेरिएबल एनर्जी साइक्‍लोट्रोन सेंटर में मेडिकल साइक्लोट्रॉन सुविधा साइक्‍लोन-30 का परिचालन शुरू

0
68

साइक्लोट्रॉन का इस्‍तेमाल कैंसर की बीमारी के नैदानिक ​​और चिकित्सकीय उपयोग के लिए रेडियोआइसोटोप के उत्पादन के लिए किया जाता है। देश में चिकित्‍सीय उपयोग के लिए इस सबसे बड़े साइक्‍लोट्रॉन,साइक्लोन -30  का परिचालन इस महीने हुआ जब इससे निकली 30 एमवी ऊर्जा किरण पिछले सप्ताह पहली बार फैराडे कप पहुंची।

इसके बाद, इस सुविधा से इस किरण का उपयोग 18 एफ (फ्लूराइन -18 आइसोटोप) के उत्पादन के लिए किया गया था। सहायक परमाणु प्रणालियों और नियामक मंजूरी के बाद इस केंद्र से अगले वर्ष के मध्य तक नियमित उत्पादन शुरू हो जाएगा। वीईसीसी, कोलकाता, में साइक्‍लोन -30 सुविधा, कार्यान्वयन के विभिन्न चरणों की कई अद्वितीय विशेषताएं होंगी।

यह सुविधा पूरे देश के लिए विशेष रूप से पूर्वी भारत के लिए किफायती रेडियो आइसोटोप और संबंधित रेडियोफर्मास्यूटिकल्स प्रदान करेगी और गैलियम -68 और पैलेडियम-103 ​​आइसोटोप के इन-सीटू उत्पादन के लिए जर्मेनियम -68 / गैलियम -68 जनरेटर के लिए निर्यात क्षमता भी उपलब्ध कराएगी, जो क्रमशः स्तन कैंसर निदान और प्रोस्टेट कैंसर उपचार में मददगार होते हैं।

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image0018YM9.jpg

LEAVE A REPLY