आवारा पशु या गौमाता?

0
55

हरियाणा सरकार ने कहा है कि हरियाणा को आगामी 26 जनवरी, 2019 तक आवारा पशु मुक्त राज्य बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ. राकेश गुप्ता ने ये जानकारी राज्य के सभी जिलों के उपायुक्तों, पुलिस अधिक्षकों व जिला के अन्य अधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रैंस के माध्यम से विभिन्न विकास कार्यों, योजनाओं और परियोजनाओं बारे समीक्षा बैठक के दौरान दी है।
उन्होंने कहा कि जिन लोगों के पशु सडक़ों पर घूम रहे हैं, उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए और जुर्माना किया जाए। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि मुख्यमन्त्री के सख्त निर्देश हैं कि राज्य को आवारा पशु मुक्त बनाने के लिए गलत कार्य करने वाले व्यक्तियों को बख्शा नहीं जाएगा। आवारा पशु प्रबंधन योजना की समीक्षा करते हुए डॉ० गुप्ता ने सम्बन्धित अधिकारियों से कहा कि वे इस योजना के तहत हर माह चर्चा करेंगे।

अब सवाल ये उठता है कि हरियाणा मे आवारा पशु कौन है। अधिकतर जगह सिर्फ गौमाता और गौवंश ही जहां तहां सड़कों पर या कूड़े के ढेर मे घूमते मिल जाते है। कहने को तो हरियाणा मे गौवंश पर कानून बनाया हुआ है, पर वो बेअसर देखाई दे रहा है। ना तो कोई कड़ी कार्यवाही इन पशुओ के मालिक पर होती नज़र आई ना ही गौशाला मे कोई सकारात्मक परिणाम देखाई दिये।
इन सब परिस्थितियों के बीच अब सरकार की आवारा पशु रहित राज्य की मुहिम कहाँ तक सीमित है और ये इसमे कहाँ तक खरी उतर पाती है ये समय ही बता पाएगा।

LEAVE A REPLY