एमपीएचडब्ल्यू एसोसिएशन की हड़ताल जारी

वीरवार को जिला स्तर पर मुख्यमंत्री का पुतला फूंकेंगे स्वास्थ्य कर्मचारी

0
159

बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कर्मचारी एसोसिएशन ने अपनी मांगों के लागू न होने के रोष स्वरूप आज तीसरे दिन भी हड़ताल जारी रखी। इस दौरान बुधवार को नियमित टीकाकरण बन्द रहा। इसके अलावा जच्चा बच्चा सेवाएं, टीबी ,मलेरिया , एंटी लार्वा, जन्म म्रत्यु सेवाएं बन्द रही। राज्य प्रधान ओमपति कादयान ने ऐलान करते हुए कहा कि सरकार हमारी मांगो पर संज्ञान नही ले रही है, जिसके रोष स्वरूप वीरवार को हर जिले स्तर पर मुख्यमंत्री का पुतला फूंकेंगे। राज्य महासचिव हरिनिवास व प्रेस सचिव संदीप कुंडू ने कहा कि सरकार ने चुनाव के दौरान सरकार ने बड़े चुनावी वायदे किये थे लेकिन सत्ता में आते ही सरकार सब वायदों को भूल गयी है और कर्मचारियों को केवल आस्वासन मिल रहे हैं व मांगों की अधिसूचना जारी नही की जा रही है। इसी के चलते प्रदेश भर के एमपीएचडब्ल्यू कर्मी राज्य एसोसिएशन बहिष्कार करते हुए हड़ताल पर हैं। जनता को होने वाली परेशानी की पूरी जिम्मेदारी सरकार व स्वास्थ्य विभाग की होगी। कर्मचारियों ने मांग की है कि समकक्ष योग्यता के आधार पर एमपीएचडब्ल्यू कैडर को 4200 ग्रैड पे देते हुए सांतवे वेतन आयोग के लेवल छ में रखा जाए। एमपीएचडब्ल्यू कैडर को टेक्निकल घोषित किया जाए। आरसीएच में कार्यरत एमपीएचडब्ल्यू को दो वर्ष की सेवाकाल पर नियमित किया जाए। इसके अलावा वर्दी भत्ता दिया जाए व एफटीए बढ़ाया जाए।

LEAVE A REPLY