छात्रो के भविष्य को देखते हुए हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा से चर्चा करके तैयार की गई रुपरेखा

0
58
सोफ्टवेयर की शुरुआत करते शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा जी

शिक्षा मंत्री से चर्चा कर शिक्षा बोर्ड का छात्रो को तोहफा, अब हर प्रश्न के अंक जान सकेंगे छात्र
बोर्ड ने तैयार करवाया सोफ्टवेयर, कम फीस में जान सकेंगे अध्यापक द्वारा दिए गए उत्तर में दिए गए अंक
अध्यापको की अनियमिताएं भी पकड़ेगा सोफ्टवेयर, कई अध्यापक दो नंबर के प्रश्र में दे देते है 3 नबंर
चैकिंग में अनियमिताएं पाई तो अध्यापक पर लगेगा अब जुर्माना
चंडीगढ़। छात्रो के भविष्य को देखते हुए हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड अब एक नया प्रयोग करने जा रहा है। इस प्रयोग की रुप रेखा शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा से चर्चा करके तैयार हो चुकी हेै। अब बोर्ड ने यह सोफ्टवेयर तैयार भी करवा लिया है। जल्द ही यह परीक्षा की चैकिंग के दौरान इस्तेमाल किया जाएंगा। साथ ही बोर्ड ने निर्णय लिया है कि अब से पहले पेपर चैकिग के दौरान अनियमिता पाएं जाने पर बोर्ड अध्यापक को बैल्कलिस्ट कर देता था लेकिन अब अध्यापक पर बोर्ड जुर्माना लगाएंगा।
छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ ना हो तो उनके पेपर चैकिग के दौरान अध्यापक सही तरीके से पेपर चैक करके उन्हें अंक प्रदान करे इसके लिए बोर्ड ने नया रास्ता निकाल लिया है। बोर्ड ने अब एक नया सोफ्टवेयर तैयार करवा लिया है तथा उसमें प्रश्र के अंक की तरह ही उसमें अंक फीड कर दिए है। अब से पहले देखने में आया था कि बोर्ड द्वारा प्रश्र पत्र में तय किए गए अंक से ज्यादा अंक अध्यापक चैकिंग के दौरान दे देता था। कई जगह तो देखने में आया था कि 2 अंक के प्रश्र में अध्यापक द्वारा चैंकिग के दौरान 3 अंक छात्र को दे दिए गए थे। इन सभी चीजो को मद्देनजर रखते हुए बोर्ड ने नया सोफ्टवेयर तैयार करवा लिया हे तथा बोर्ड ने शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा से भी इस बारे चर्चा कर ली है।
बोर्ड चेयरमेन डॅा. जगबीर सिंह ने बताया कि प्रदेश के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा से इस बारे में विस्तृत चर्चा हो चुकी है तथा शिक्षा मंत्री ने प्रदेश के छात्रों को यह तोहफा भी दिया है जिससे बच्चे अब प्रत्येक प्रश्र के अंक जान सकेंगे। बोर्ड चेयरमैन ने बताया कि इसके लिए कम फीस का प्रावधान रखा जाएंगा ताकि छात्र अपने अंक जान सके। उन्होंने बताया कि अब से पहले यह सुविधा नही थी। अब यह सुविधा मिलने के बाद छात्र को 1 हजार रुपए खर्च करके पुर्न मूल्याकांन व पुर्न जांच करवाने की जरुरत नही पड़ेगी। उन्होंने कहा कि फिर भी अगर छात्र को ऐसा लगेगा कि उसे पुर्न मूल्यांकान करवाना है तो वह करवा सकता है।
बोर्ड चेयरमेन ने यह भी बताया कि इस सोफ्टवेयर से अध्यापको की पेपर चैकिग की अनियमिताओं के बारे में भी जानकारी मिल सकेंगी। उन्होंने बताया कि अब से पहले देखने में आया है कि कई प्रश्र केवल 2 नंबर को होता है पेपर जांच के दौरान अध्यापक द्वारा प्रश्र के 3 नंबर दिए गए है। अब ऐसी अनियमिताएं भी बोर्ड के संज्ञान में आएंगी। उन्हेांने बताया कि सोफ्टवेयर में प्रश्र के अंक फीड किए गए है। उन्होंने यह भी बताया कि बोर्ड प्रश्र वाईज अंक जानने के लिए कम फीस रखेगा हालांकि अभी यह सुनिश्चित नही हुआ है कि कितनी फीस रखी जाएंगी लेकिन मात्र 100 रुपए रखे जाने की सोची जा रही है।
बोर्ड चेयरमेन डॉ जगबीर सिंह ने यह भी कहा कि अब से पहले बोर्ड पेपर चैकिंग के दौरान अनियमिता होने पर अध्यापक को ब्लैक लिस्ट कर देता था लेकिन अब हसला व सलाह के साथ बैठक के बाद निर्णय लिया है कि वे ब्लैक लिस्ट की बजाए ऐसे अध्यापको पर जुर्माना लगाएंगे ताकि बार बार अध्यापक ऐसी गलती ना करें।
बॉक्स
लाखों विद्यार्थियों को मिलेगा शिक्षा बोर्ड की नई नीति का फायदा: प्रो0 रामबिलास शर्मा
प्रदेश के शिक्षा एवं पर्यटन मंत्री प्रो0 रामबिलास शर्मा ने बताया कि हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड द्वारा पेपर मार्किंग के समय टीचरों को स्पेशल एप उपलब्ध कराए जाने की नीति से प्रदेश के लाखों विद्यार्थियों को फायदा होगा। उन्होंने बताया कि एप के जरिए मार्किंग के वक्त ही टीचरों को उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन के कार्य के दौरान ही इस एप के जरिए भी अंक अपडेट करने होंगे, जिसका पूरा रिकार्ड ऑनलाइन शिक्षा बोर्ड मुख्यालय पर ही मौजूद रहेगा, इस नीति से कोई भी विद्यार्थी अपनी उत्तर पुस्तिका में अंकों की जानकारी जुटा पाएगा। जिससे बच्चों का समय और आर्थिक बोझ भी कम होगा, क्योंकि इस एप के जरिए बहुत ही कम शुल्क पर बच्चों को उत्तर पुस्तिका में हल किए गए प्रश्नों के उत्तरों पर मिले अंकों की जानकारी मिल सकेगी।

LEAVE A REPLY